इस बार होगी आर-पार की लड़ाई

Powered by Blogger.

गुर्जर नेता पूर्व विधायक अतर सिंह भडाना ने दी सरकार को चेतावनी

http://bagdawat.com/


 हिंडौन सिटी. गुर्जर नेता और पूर्व विधायक अतर सिंह भडाना ने आरक्षण के लिए समाज के 74 योद्धाओं द्वारा दिया गया बलिदान व्यर्थ नहीं जाने देने की बात कहते हुए सरकार को चेतावनी दी है कि इस बार गुर्जर आरक्षण के लिए आर-पार की लड़ाई लडेंग़े। इसके लिए 3 सितंबर को नादौती के कैमरी में देश भर के प्रमुख गुर्जर पटेलों और नेताओं की सभा रखी गई है। इसके बाद 5 सितंबर को सिकंदरा के कैलई में महापंचायत आयोजित कर आंदोलन का निर्णय लिया जाएगा।

पूर्व विधायक भडाना गुरूवार को शहर के प्रहलाद कुंड के पास स्थित देवनारायण मंदिर में गुर्जर समाज की बैठक लेकर मीडियाकर्मियों से बात कर रहे थे। भडाना ने बताया कि 3 सितंबर को कैमरी में बैठक रखने के बाद 5 सितंबर को पुन: सिकंदरा के कैलई में प्रदेश भर के गुर्जर समाज के लोगों की महापंचायत आयोजित होगी। इस महापंचायत में कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला, केंद्रीय मंत्री सचिन पायलट को भी बुलाया गया है। भडाना ने बताया कि इस पंचायत में आंदोलन का निर्णय लेकर आरक्षण के लिए आर-पार की लड़ाई लड़ी जाएगी। भडाना ने बताया कि सरकार ने 5 सितंबर तक आरक्षण की मांग पूरी नहीं की तो गुर्जरों का गुस्सा कभी भी फूट सकता है। भडाना ने बताया कि इस बार का आंदोलन एक व्यक्ति और एक स्थान के बजाय पूरे प्रदेश में सामूहिक नेतृत्व में लड़ा जाएगा। इसके लिए सिकंदरा के कैलई में हुई बैठक में 21 लोगों की कमेटी का गठन किया जा चुका है। इस कमेटी में आवश्यकता के अनुसार और भी लोग जोड़े जाएंगे। भडाना ने बताया कि इस बार की लड़ाई में वार्ता की मेज पर किसी भी प्रकार की हार नहीं होगी जिससे आंदोलन में शामिल रहने वाले गुर्जर समाज के लोगों को अन्य आंदोलनों की भांति निराशा का सामना करना पड़े। भडाना ने यह भी कहा कि पूर्व आरक्षण की मांग को लेकर मुख्यमंत्री से मिल चुके हैं और इस संबंध में 5 सितंबर से पहले कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव राहुल गांधी से भी दिल्ली पहुंचकर मुलाकात की जाएगी। मीडियाकर्मियों से बात करने से पहले भडाना ने देवनारायण मंदिर में गुर्जर समाज के लोगों की बैठक को संबोधित किया। इस बैठक में अध्यक्षता कर रहे पूर्व सरपंच प्रीतम सिंह बैसला सहित पूर्व पार्षद तारा सिंह गुर्जर, देवनारायण मंदिर कमेटी के अध्यक्ष मदन सिंह टीटी, पार्षद कप्तान सिंह गुर्जर, विजेंद्र सिंह कंचन, हरस्वरूप सिंह गुर्जर, पूरन सिंह बडीबाखर, सिर मोहर सिंह सूबेदार, मोहन सिंह बैसला, बनै सिंह गुर्जर आदि लोगों ने भी विचार व्यक्त किए।

सरकार से मिले हुए है बैसला

गुर्जर नेता अतर सिंह भडाना राज्य के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को आरक्षण के मुद्दे पर सीधे तौर पर दोषी नहीं बता पाए, बल्कि उन्होंने कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला के खिलाफ जमकर आग उगली। भडाना ने कहा कि अभी तक 14 आंदोलनों के बाद भी गुर्जरों को आरक्षण नहीं मिलने के पीछे कर्नल बैसला हैं। भडाना ने सवाल किया बैसला ने कुशारीपुर दर्रा के आंदोलन को यह कहकर समाप्त किया था कि गुर्जरों को राजेश पायलट की प्रतिमा के अनावरण में जाना है जबकि उस प्रतिमा अनावरण में स्वयं उपस्थित नहीं हुए। इसके बाद नांगल दुर्गसी में हुई सभा में बैसला मुख्यमंत्री के साथ उपस्थित हो गए। बैसला पर भडाना ने राजनीतिक लाभ के भी आरोप लगाए।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

सबसे ज्यादा देखी गईं