Thursday, March 11, 2010

27 पत्र-पत्रिकाएं निकलती हैं गुर्जर समाज की

नंदलाल गुर्जर. गुर्जर समाज की देशभर से करीब 27 पत्र-पत्रिकाएं प्रकाशित होती हैं। हमने इन सबकी जानकारी एक जगह जुटाने की कोशिश की है। हमारा प्रयास इनके संबंध में पूरी जानकारी सही देने का रहा है, फिर भी यदि कोई कमी रह गई हो तो कृपया हमें सूचित करें। इस जानकारी को हमारे लिए जुटाया है बारहवीं के छात्र नंदलाल गुर्जर ने। भीलवाड़ा जिले की मांडलगढ़ तहसील के गांव थलखुर्द के रहने वाले इस किशोर में समाज के प्रति जानने की जबरदस्त जिज्ञासा है। इसने न केवल समाज की देश भर से प्रकाशित होने वाली समाज की पत्र-पत्रिकाओं का ब्यौरा जुटाया है बल्कि गुर्जर समाज के इतिहासकारों के संबंध में भी अच्छी खासी जानकारी एकत्रित की है।
1. गुर्जर महासभा
संपादक -श्रीरामसरन भाटी, गुर्जर भवन कोटला, पहाडग़ंज, नई दिल्ली
2. गुर्जर निर्देशक
संपादक-जगदीश सिंह गुर्जर, नर्मदा कॉप्लेक्स, ग्वालियर रोड, पोस्ट कत्थमिल, शिवपुरी (मध्यप्रदेश)
3. गुर्जर समाज
संपादक- शिवशंकर गुर्जर, गुर्जर भवन, विजयपथ, तिलक नगर, जयपुर
4. गुर्जर टू डे
संपादक-के.एस पोसवाल, 69/14, आर्य अस्पताल, पानी की टंकी के पास, रामनगर, करनाल, हरियाणा
5. गुर्जर भारती
संपादक-त्रिभुवन सिंह गुर्जर, ग्राम. माडला, पोस्ट लोनी, जिला-गाजियाबाद, उत्तरप्रदेश
6. गुर्जर दर्शन
सरदार सिंह, पी-9त्रिवेणी टावर, उनियारों का रास्ता, चांदपोल बाजार, जयपुर
7. सामाजिक गुर्जर पत्रिका
संपादक-ओमपाल गुर्जर, मु.पो. कमाला, बागपत, उत्तर प्रदेश
8. गुर्जर गाथा
ब्रह्मपाल सिंह नागर, पटेल भन, कमरा नं.-339 ए, नॉलेज पार्क, फे. 2, ग्रेटर नोएडा, दिल्ली, एनसीआर
9. गुर्जर सेवा
संपादक-एडवोकेट रणवीर सिंह, गली नं. 12, नाका च्रद्रवदनी, ग्वालियर (म.प्र.)
10. वीर गुर्जर पत्रिका
संपादक-प्रदीप गुर्जर, मु.पो.-कमला बागपत (उ.प्र.)250345
11. गुर्जर इंडिया
संपादक-डीआर कसाना, सौमाला, आरटीएम होटल के सामने, कोटपूतली, जयपुर (राजस्थान)-18
12. गुर्जर कारवां
संपादक-तेजप्रतापसिंह, 1, माता मंदिर, तुगलकाबाद गांव, दिल्ली
13. आवाज-ए-गुर्जर
संपादक-मसूद चौधरी, गुर्जर देश चेरिटेबल ट्रस्ट, 48, गुर्जर कॉलोनी, बाईपास, जम्मू
14. जगदीश धाम देववाणी
संपादक-सियाराम वकील, गुर्जर भवन-कैमरी, पो.-कैमरी, तहसील-नादौती, जिला-करौली (राजस्थान) 322216
15. बाबा देवपुरी वाणी
संपादक-सरनाम सिंह तौंगर, वनखंडी रोड, ठाकुर गली, गोपालपुरा, मुरैना (म.प्र.)
16. देव ज्योति दर्शन
संपादक-रामगोपाल गार्ड, गुर्जर गौमती भवन, कालवाड़ रोड, झोटवाड़ा, जयपूर (राजस्थान)
17. गुर्जर पायलट संदेश
संपादक-राम अवतार धाभाई, बड़ा तख्ता, टोंक (राजस्थान)
18. गुर्जर वीर पत्रिका
संपादक-सत्यवीर सिंह गुर्जर, हनुमान विहार कॉलोनी, फेज प्रथम, सराय काजी रोड, पोस्ट-मडिकल, मेरठ (उ.प्र.)
19. गुर्जर जगत
संपादक-जीवनाराम, देव पैलेस, गली नं. -6, पोस्ट-जसवंत गढ़, जिला-नागौर (राजस्थान)
20. गुर्जर देशभक्त
संपादक-सुरेंद्र सिंह भाटी, प्रबंधक अमरसिंह भाटी, खेल संस्थान, ग्राम-खरखौदा, पोस्ट-जामतौली, तहसील-हसनपुर, जिला-जेपीनगर (उ.प्र.) 244441
21. गुर्जर संचार
संपादक-रमेश गुर्जर, 558, बजरंग नगर, इंदौर (म.प्र.)
22. गुर्जर गौरव
संपादक-डॉ. जयसिंह गुर्जर, ग्राम-शिकारपुर, पोस्ट-लंडौरा, जिला-हरिद्वार, उत्तराखंड
23. गुर्जर जागृति
संपादक-भरतराज गुर्जर, देव भवन, न्यू लाइट पब्लिक स्कूल के पीछे, संघपुरा, पुरानी टोंक (राजस्थान)
24. गुर्जर विकास पत्रिका
संपादक-जयप्रकाश सिंह गुर्जर,
25. पायलट दर्शन
राम लखन सिंह कसाना, सीई-377, दीन दयाल नगर, ग्वालियर (म.प्र.)
26. गुर्जर गंगा
संपादक-सतीश चौधरी, शहादा, जिला-नंदुरबार (महाराष्ट्र)
27. सेवा और सलाह
संपादक-सरोज गुर्जर, ई-२९०, रामनगर एक्सटेंशन सोढ़ाला, जयपुर

8 comments:

  1. agar kisi patrika ka naam chhoot gaya hai to kripaya soochi ko poora karane main hamari madad karen.

    ReplyDelete
  2. देव चेतना, मृगनयनी, पथिक टूडे

    ReplyDelete
  3. देव चेतना, मृगनयनी, पथिक टूडे

    ReplyDelete
  4. वीर गुर्जर भाइयों के नाम एक सन्देश।

    भाइयों जैसा की आप सब जानते हैं कि सचिन पायलट साहब हमारे समाज के सबसे लोकप्रिय और प्रतिष्ठित नेता हैं, किंतु उनका संबंध एक ऐसी राजनीतिक पार्टी से है जो वर्तमान में मोदी विरोध और देश विरोध में फर्क करना भूल गयी है।मोदी विरोध करना कांग्रेस का हक़ है और जायज़ भी है लेकिन वो आतंकियों का महिमामंडन करके हमारे देश के वीर सैनिकों का, जिनमे लाखों गुर्जर भाई भी शामिल हैं, अपमान कर रही है।भोपाल एनकाउंटर हो या बाटला हाउस एनकाउंटर,कांग्रेस हमेशा आतंकवादियों का समर्थन करती आई है वो भी वोटबैंक की राजनीति के लिए।यहाँ तक कि भारतीय सेना द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक करने पर भी ये पार्टी अपने बाकी साथियों के साथ जिनमे श्री केजरीवाल भी शामिल हैं, बड़ी ही बेशर्मी के साथ वीडियो सबूत मांगने में जुट गए जो की पाकिस्तान के लिए बहुत ही जरूरी थे,क्या इन लोगों को देश की सेना पर भी विश्वास नहीं है? कब तक ये लोग परदे के पीछे से पाकिस्तान और आतंकवादियों का साथ देते रहेंगे और हम चुपचाप देखते रहेंगे?

    गुर्जर समाज ने सदैव अपने देश की रक्षा में अपने प्राणों की आहुति दी है।गुर्जरों के लिए जात के नेता से बड़ा देश है।साथ ही हम सब को ये नहीं भूलना चाहिए कि स्व. श्री राजेश पायलट साहब ने सोनिया गाँधी को कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए चुनौती दी थी किन्तु उनके पुत्र तो सोनिया गांधी और राहुल गांधी के परिवार भक्ति में लीन है, उनके खिलाफ न तो बोलते हैं न सुन सकते हैं। तो अब हम सब गुर्जर भाइयो को ये तय करना होगा की हमारे लिए देश बड़ा है न की जात।और ऐसे देश विरोधी राजनीतिक दलों का विरोध करना ही होगा फिर चाहे उसमे हमारी जाती का कोई बड़ा नेता ही क्यों न हो, कोई भी नेता देश से बड़ा नहीं है।

    2018 में राजस्थान में विधान सभा चुनाव है और इस बात की प्रबल संभावना है कि कांग्रेस जीतने पर सचिन पायलट ही मुख्यमंत्री बनें।लेकिन इसका मतलब ये बिलकुल नहीं है कि हिम पायलट साहब को मुख्यमंत्री बनने के लिए कांग्रेस को अपना समर्थन दे। राजस्थान के गुर्जर भाइयों को कांग्रेस को वोट तब नहीं देना चाहिए जब तक वो सैनिको का सम्मान करना न सीख ले और देश को सर्वोपरि रखकर एक परिवार की भक्ति से मुक्त हो और देश के लिए काम करना शुरू करे।
    अंत में मैं दौसा जिले के खवारावजी गाँव के शहीद घनश्याम गुर्जर को श्रद्धांजलि देकर अपनी बात पूरी करना चाहूंगा।
    अपने शहीदों का सम्मान करे और उन्हें सदैव याद रखें।
    जय हिंद जय हिन्दू।

    ReplyDelete
  5. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete

सबसे ज्यादा देखी गईं