Thursday, February 10, 2011

पायलट भवन का लोकार्पण

मुख्यमंत्री ने किया भवन परिसर में लगाई गई राजेश पायलट की आदमकद मूर्ति का अनावरण



जयपुर. डेयरी के पीछे नवनिर्मित राजेश पायलट भवन का गुरुवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लोकार्पण किया। कार्यक्रम की अध्यक्षता केंद्रीय संचार राज्यमंत्री सचिन पायलट ने की। राजेश पायलट की पत्नी रमा पायलट भी समारोह में मौजूद थीं। गहलोत ने पायलट की प्रतिमा का अनावरण भी किया।
कार्यक्रम में उद्योग मंत्री राजेंद्र पारीक, ऊर्जा मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह, चिकित्सा मंत्री एमादुद्दीन अहमद खान, पंचायती राज मंत्री भरतसिंह, परिवहन मंत्री ब्रज किशोर शर्मा, खाद्य राज्य मंत्री बाबूलाल नागर, तकनीकी शिक्षा (कृषि)राज्यमंत्री मुरारीलाल मीणा, सांसद महेश जोशी, पूर्व सांसद डॉ. करण सिंह यादव, महापौर ज्योति खंडेलवाल, कई विधायक, जिला प्रमुख, प्रधान और सरपंच और समाज के लोग मौजूद थे। अंत में राजेश पायलट की पत्नी रमा पायलट ने सभी का आभार जताया।
पढ़ेंगे नहीं तो आरक्षण से क्या फायदा: गहलोत
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि अगर कोई पढ़ेगा लिखेगा नहीं तो आरक्षण के आंदोलन से कुछ नहीं होगा। आरक्षण मांगते हैं और सरकारी नौकरियों के लिए भर्ती में पूरे लोग नहीं मिलते, क्योंकि पढ़े लिखे लोग ही नहीं है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी लोग इस बात का संकल्प लेकर जाएं कि परिवार में, पड़ोस में और गांव में कोई बालक बालिका बिना पढ़े नहीं रहे। उन्होंने कहा कि यही संकल्प राजेश पायलट को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
जड़ें मजबूत करने के लिए माटी से जुड़ाव जरूरी : पायलट

राजेश पायलट के पुत्र और केंद्रीय संचार राज्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि उन्होंने अपने पिता से ही सीखा है कि जिस पेड़ की जड़े मजबूत करनी है, तो उसे मिट्टी से जुड़ा रहना होगा। चाहे कोई फटी बनियान में आए या सिल्क का चोला पहनकर, सभी को समान रूप से गले लगाना चाहिए। सचिन पायलट ने कहा कि हमें राजेश पायलट के आदर्शों को आगे बढ़ाना है।

No comments:

Post a Comment

सबसे ज्यादा देखी गईं