मप्र के गुर्जरों को भी आरक्षण की है जरूरत

Powered by Blogger.
 भगवान देव नारायण की जयंती पर गुर्जर भवन तुलसी नगर में आयोजित प्रांतीय सम्मेलन में बैंसला ने कहा
Source: भास्कर न्यूज 
 
भोपाल. मप्र के गुर्जर भाइयों को चाहिए कि वे अपनी ठकुराई-ठसक छोड़ कर शिक्षा के क्षेत्र में या तो सवर्णो की बराबरी करें या फिर पिछड़ेपन को दूर करने के लिए आरक्षण का अपना हक मांगें। इसके लिए आप जब भी मुझे बुलाएंगे, मैं हाजिर हो जाऊंगा।
यह बात राजस्थान गुर्जर आंदोलन संघर्ष समिति के अध्यक्ष कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने कही। वे यहां गुर्जर समाज समिति द्वारा अपने आराध्य देव भगवान देव नारायण की जयंती पर गुर्जर भवन तुलसी नगर में आयोजित प्रांतीय सम्मेलन में बोल रहे थे।
मुख्य अतिथि श्री बैंसला ने गुर्जरों से कहा कि वे समाज में शिक्षा की मशाल प्रज्‍जवलित करें। खासकर बेटियों को जरूर पढ़ाएं। उन्होंने कहा वे तब खुश होंगे,जब समाज की कोई बेटी किसी दिन भोपाल जिले की कलेक्टर बनकर उन्हें अपने घर चाय पर बुलाए।
फिजूलखर्ची रोकने समाज में सोशल इमरजेंसी जैसी व्यवस्था करें। गुर्जर यूनाइटेड काउंसिल जम्मू-कश्मीर के अध्यक्ष कमर रब्बानी ने कहा कि सारे देश के गुर्जरों को राजस्थान के दौसा के गुर्जरों से सीख लेनी चाहिए।
प्रारंभ में समाज समिति के अध्यक्ष राजेंद्रसिंह गुर्जर ने श्री बैंसला व श्री रब्बानी का साफा बांधकर अभिनंदन किया। समाज के प्रमुख सरदार सिंह डंगस,रुस्तम सिंह,जोधाराम गुर्जर,दिलीप सिंह गुर्जर ने भी संबोधित किया।
समाज की विभिन्न क्षेत्रों की प्रतिभाओं को भी पुरस्कृत किया गया।
सचिवालय में आपका कौन?
श्री बैंसला ने मप्र के गुर्जरों से पूछा कि वे बताएं कि मप्र में उनकी स्थिति क्या है। सचिवालय में कौन अफसर उनका है, जो उनकी बात सुने। जिस समाज की शासन-प्रशासन में भागीदारी नहीं होती, उनकी स्थिति हुक्काबरदार जैसी होती है। गुर्जर या तो सवर्णो की तरह शिक्षित होकर बराबरी करें या फिर अपना पिछड़ापन दूर करने आरक्षण का अपना हक मांगें। फैसला उनके हाथ है। अब समाज की पिछड़ी पीढ़ी ने कुछ नहीं किया,परंतु वे अब भविष्य की पीढ़ी के बारे में सोचें।

http://www.bhaskar.com/article/MP-BPL-colonel-kirori-singh-bainsla-appeals-to-mp-gurjar-community-for-leaving-all-rigi-1834693.html?HT2= 

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

सबसे ज्यादा देखी गईं