नववर्ष पर सुलह की आस

Powered by Blogger.
सरकार से बातचीत के लिए जयपुर नहीं पहुंचे गुर्जर नेता, बातचीत आज संभव




जयपुर/बयाना/हिंडौनसिटी/पीलूपुरा. शुक्रवार को सरकार वार्ता के लिए दिनभर गुर्जर प्रतिनिधिमंडल का इंतजार करती रही, लेकिन गुर्जर नेता धरनास्थल से नहीं हिले। देर रात तक गुर्जरों का प्रतिनिधिमंडल जयपुर नहीं पहुंचा था। अब शनिवार को बातचीत होने की संभावना जताई जा रही है। हालांकि गुर्जर नेताओं ने इसकी पुष्टि नहीं की है।
गुर्जर नेता अड़े हैं कि पहले केंद्रीय संचार राज्य मंत्री सचिन पायलट और राज्य सरकार में ऊर्जा मंत्री डॉ. जितेंद्रसिंह जैसे कांग्रेसी गुर्जर नेता सरकार से आश्वासन लें और सरकार से टेबल पर बातचीत कर गुर्जरों के लिए 5 प्रतिशत आरक्षण लेकर आएं। इसके बाद ही वे बातचीत करेंगे। गुर्जर नेताओं ने कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष सी.पी.जोशी, हरिसिंह महुवा, ब्रिजेंद्रसिंह सूपा और रामचंद्र सराधना आदि नेताओं के नाम भी सुझाए हैं।
उधर, पीलूपुरा में बारहवें दिन भी गुर्जर दिल्ली-मुंबई ट्रैक पर जमे रहे। सरकारी अधिकारियों ने पीलूपुरा और बयाना में दिनभर गुर्जर नेताओं को समझाने की कोशिशें कीं, लेकिन वे नहीं माने। गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ीसिंह बैसला ने कहा कि पहले कांग्रेस से जुड़े नेता जयपुर में सरकार से ठोस बात करें। साथ ही आरक्षण के मामले में सरकार द्वारा दिए जाने वाले आश्वासन की गारंटी लें। उन्होंने कहा कि इन नेताओं की मुख्यमंत्री के साथ बातचीत चल रही है, जिसमें सकारात्मक नतीजे आने की उम्मीद है। 5 प्रतिशत आरक्षण पर स्थिति स्पष्ट होते ही वे शनिवार को प्रतिनिधिमंडल को यहां से रवाना कर देंगे। 
अफसरों को अभी भी उम्मीद 
यूडीएच प्रमुख सचिव जी. एस. संधू ने बताया कि गुर्जरों को वार्ता के लिए समझाने की कोशिशें सफल रही हैं और वे जल्द ही प्रतिनिधिमंडल शनिवार दोपहर तक जयपुर रवाना कर देंगे। प्रतिनिधिमंडल में 21 सदस्य शामिल किए जाने की संभावना है।
मुख्यमंत्री और बैसला ने दीं नव वर्ष की शुभकामनाएं
कर्नल बैसला ने बताया कि उनकी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ बात हो चुकी है। मुख्यमंत्री ने जब नए साल की शुभकामनाएं दी तो उन्होंने मुख्यमंत्री से कहा कि वे पांच प्रतिशत आरक्षण देकर गुर्जरों के लिए शुभकामनाएं दें।
क्यों नहीं आए गुर्जर
सरकार को मिली खुफिया रिपोर्टों के अनुसार पीलूपुरा में टै्रक पर बैठे आंदोलनकारियों में सरकार के साथ बातचीत करने के लेकर एकराय नहीं बन पा रही है। सरकारी सूत्रों का कहना है कि गुटबाजी के चलते ही शुक्रवार को प्रतिनिधिमंडल के सदस्यों का चयन नहीं हो पाया और इसी के चलते कांग्रेस के गुर्जर नेताओं को आगे किया जा रहा है।
बातचीत के लिए गुर्जरों का स्वागत है 
गृहमंत्री शांति धारीवाल ने  गुर्जर समाज से अपील है कि सरकार शांतिपूर्ण तरीके से समस्या को हल करना चाहती है, इसलिए वे बातचीत के लिए आगे आएं। सरकार बातचीत के लिए हरदम तैयार है, गुर्जर कभी भी वार्ता के लिए आएं, उनका स्वागत हैं।
जयपुर में डॉ. जितेंद्र ने संभाला मोर्चा
आंदोलनकारियों को वार्ता की मेज पर लाने के लिए जयपुर में ऊर्जा मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने गुरुवार को दिनभर समाज के नेताओं के साथ बैठकें की। आंदोलनकारियों की मांग के अनुसार डॉ. जितेंद्र ने कांग्रेस से जुड़े गुर्जर नेताओं के साथ आरक्षण मसले के हल पर चर्चा की। देर रात गुर्जर नेताओं ने मुख्यमंत्री आवास पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ बैठक कर वार्ता के एजेंडे पर मंथन किया। डॉ. जितेंद्र ने बताया कि वे कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला से लगातार संपर्क में है, और उनका प्रतिनिधिमंडल शनिवार को जयपुर आने की पूरी संभावना है। सरकार हरदम बातचीत के लिए तैयार है। मुख्यमंत्री आवास पर हुई बैठक में डॉ. जितेंद्र के अलावा गुर्जर नेता अतरसिंह भडाना, हरिसिंह महुवा, बृजेंद्र सिंह सूपा, जगन गुर्जर, जी. आर. खटाना, डॉ. कैलाश गुर्जर,गणेश लामोड़ी, विधायक महेंद्र सिंह गुर्जर और रामस्वरूप कसाना शामिल हुए।

जाम और बंद
गुर्जरों ने शुक्रवार को भरतपुर में भुसावर, नगर और डीग में प्रदर्शन किया और रास्ते रोके। अलवर में कई मार्गों पर बसें नहीं चलीं। सवाई माधोपुर का गंगापुर भरतपुर का रुदावल, बारां का मांगरोल, किशनगंज व केलवाड़ा तथा बूंदी का केशवरायपाटन और खटकड़ कस्बा बंद रहा। नैनवां उपखंड के जैतपुर तिराहे पर चौथे दिन भी बेमियादी जाम जारी रहा। उधर दिल्ली में एनसीआर के गुर्जरों ने जंतर-मंतर पर धरना दिया। गुर्जरों ने पांच प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर राष्ट्रपति के  नाम एक ज्ञापन भी भेजा। सुबह ११ बजे से धरने पर बैठे गुर्जरों ने शाम चार बजे गिरफ्तारी देकर धरना समाप्त किया। उधर, ग्रेटर नोएडा में गुर्जरों ने परी चौक पर जाम लगाया और राजस्थान सरकार के विरोध में नारे लगाए। फरीदाबाद में हुई बैठक में अलग-अलग स्थानों से प्रत्येक दिन 200 लोगों को पीलूपुरा भेजने तथा 3 जनवरी को भारत बंद का निर्णय किया गया।
दैनिक भास्कर से साभार

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

सबसे ज्यादा देखी गईं