Thursday, December 30, 2010

विधूड़ी बोले-हम बैसला के साथ, गुंजल कोसते रहे

दोनों नेता एक मंच पर आए, 5% आरक्षण के लिए अलग बिल लाने की मांग
जयपुर . अखिल भारतीय गुर्जर आरक्षण समिति के अध्यक्ष रामवीर सिंह विधूड़ी और गुर्जर नेता प्रहलाद गुंजल बुधवार को एक मंच पर आए, लेकिन कर्नल बैसला को लेकर दोनों के मतभेद पहले ही दिन सार्वजनिक हो गए।
मीडिया  से बातचीत में गुंजल ने बैसला पर जमकर कटाक्ष किए और उन्हें जयचंद तक कह डाला। इस पर विधूड़ी उन्हें रोकने की कोशिश करते रहे और कहा कि आंदोलन में पूरा गुर्जर समाज कर्नल किरोड़ी बैसला के साथ है और वे समाज के नेता हैं।
वहीं गुंजल बोले कि बैसला सरकारी मेहमान बनकर पटरी पर बैठे हैं। उनकी सभी आंदोलनों में जयचंद जैसी भूमिका के कारण ही समाज को बार बार नुकसान उठाना पड़ा और 70 सपूतों के बलिदान के बाद भी आरक्षण के नाम पर कुछ नहीं मिल पाया। उन्होंने कहा कि आरक्षण समस्या का एक ही समाधान है कि सरकार नया बिल पेश करे और इसे नवीं अनुसूची में शामिल करवाए।
जादूगरी दिखाना बंद करें गहलोत : बिधूड़ी
बिधूड़ी ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत अब गुर्जरों के साथ जादूगरी दिखाना बंद करें। पांच प्रतिशत विशेष श्रेणी का आरक्षण देने के लिए वे तुरंत विधानसभा का सत्र बुलाकर नया बिल लाएं और इसे नवीं अनुसूची में शामिल करवाएं। यह आश्वासन समाज तभी मानेगा जब सोनिया गांधी और प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह नवीं अनुसूची में शामिल करवाने का आश्वासन दे। सरकार और मुख्यमंत्री पर अब समाज का भरेसा नहीं रहा है।
दैनिक भास्कर से साभार

No comments:

Post a Comment

सबसे ज्यादा देखी गईं