Sunday, May 30, 2010

गुर्जर आंदोलन के शहीदों की याद में मोमबत्तियां जलाईं

गवर्नमेंट हॉस्टल स्थित शहीद स्मारक पर श्रद्धाजंलि सभा, 31 मई को होने वाली बैठक व 13 जून के राजस्थान बंद को सफल बनाने की तैयारियों पर भी चर्चा
जयपुर . गवर्नमेंट हॉस्टल स्थित शहीद स्मारक पर शनिवार शाम राजस्थान गुर्जर महासभा युवा प्रकोष्ठ की ओर से  72 मोमबत्तियां जलाकर आरक्षण आंदोलन में मारे गए गुर्जर शहीदों को श्रद्धाजंलि दी गई। 
जयपुर नगर निगम की पूर्व महापौर शील धाभाई ने गुर्जर आरक्षण आंदोलन के शहीदों को पुष्पांजलि अर्पित की और उनकी स्मृति में शहीद स्मारक पर पहली मोमबत्ती जलाई। इसके बाद राजस्थान गुर्जर महासभा के कोषाध्यक्ष अमरसिंह कसाना, भौंरीलाल चेलरवाल, देवनारायण रग्गल, गुर्जर समाज सामूहिक विवाह समिति, जयपुर के अध्यक्ष रमेश चंद्र चेची, महामंत्री गौरी शंकर डोई सहित समाज उपस्थित लोगों ने भी मोमबत्ती जलाकर शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इस मौके पर राजस्थान गुर्जर महासभा के कार्यकर्ताओं ने आरक्षण मिलने तक संघर्ष जारी रखने का संकल्प लिया। इस दौरान 31 मई को होने वाली बैठक व 13 जून के राजस्थान बंद की तैयारियों पर भी चर्चा हुई। श्रद्धांजलि सभा में बड़ी संख्या में शामिल हुए गुर्जर समाज के लोगों ने दो मिनट का मौन रखा। 
एसटी में आरक्षण ही सच्ची श्रद्धांजलि : गार्ड
श्रद्धांजलि सभा में राजस्थान गुर्जर महासभा के प्रदेशाध्यक्ष रामगोपाल गार्उ ने कहा कि समाज को एसटी में आरक्षण ही आरक्षण आंदोलन के शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।
हमारा संघर्ष जारी रहेगा : नाथूसिंह
पूर्व सहकारिता मंत्री नाथूसिंह गुर्जर ने श्रद्धांजलि सभा में कहा कि आरक्षण आंदोलन में जाने देने वालों की कुर्बानी व्र्थ नहीं जाएगी। अनुसूचित जनजाति में आरक्षण मिलने तक हमारा संघर्ष जारी रहेगा।
बच्चे-बच्चे तक पहुंचाएं शहादत की दास्तां : लामोड़
नगर निगम पार्षद ओमप्रकाश लोमोड़ ने कहा कि आरक्षण पाने के लिए हमें गुर्जर आरक्षण आंदोलन में जाने देने वालों की शहादत की दास्तां को समाज के बच्चे-बच्चे तक पहुंचाना होगा।
बैसला का फैसला मंजूर नहीं : मोहन लाल
राजस्थान गुर्जर महासभा के प्रदेश महामंत्री मोहनलाल वर्मा ने कहा कि गुर्जर समाज ने बैसला के फैसले को नकार दिया है। अनुसूचित जाति में आरक्षण के लिए हमें सभी वर्गों को साथ लेकर चलना होगा।

No comments:

Post a Comment

सबसे ज्यादा देखी गईं