गुर्जरों के लिए अलग विधेयक के संकेत

Powered by Blogger.
सरकार और गुर्जरों की बात समझौते तक पहुंची, पुष्टि नहीं, भेष बदलकर आए बैसला, मुख्यमंत्री से आधा घंटे बात की और छिप गए, गहलोत सोमवार को राज्यपाल से मिले थे, बैसला से बातचीत के बाद स्पीकर से भी बात की

जयपुर . गुर्जरों को विशेष आरक्षण देने के लिए सरकार नया विधेयक ला सकती है। हालांकि किसी भी स्तर पर पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन मंगलवार सुबह से देर रात तक चली मुलाकातों ने संकेत दिए हैं कि नए विधेयक के जरिये आर्थिक पिछड़ों और विशेष पिछड़ों का आरक्षण अलग-अलग किया जा सकता है।
मंगलवार देर रात कर्नल बैसला भेष बदलकर जयपुर आए और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से आधा घंटे बात की। सीएम हाउस के सामने खड़ा मीडिया बैसला का इंतजार करता रहा और अचानक पता चला कि वो बिना पगड़ी का आदमी, जो अभी-अभी सीएम हाउस से निकला था, दरअसल बैसला ही थे। फोन पर बैसला का पीछा किया, उन्होंने कहा- जल्दी में हूं, कहीं जा रहा हूं। दुबारा फोन करने पर उन्हें राजनीतिक नींद आ गई। कुल मिलाकर सीएम से हुई बात का ब्यौरा देने से वे कतराते रहे। अजमेर के महापड़ाव स्थल पर देर रात बैसला का फोन पहुंचा, जहां उन्होंने बताया कि सरकार से बात बन रही है और इसका पूरा ब्यौरा बुधवार को महापड़ाव स्थल पर संभागीय आयुक्त देंगे। सोमवार को गहलोत की राज्यपाल से मुलाकात को भी पृथक विधेयक का संकेत माना जा रहा है। समझा जाता है कि इसी कड़ी में बैसला से बातचीत के बाद मुख्यमंत्री ने स्पीकर से बात की। इधर, मंगलवार रात्रि करीब 12.05 बजे बैसला ने भी महापड़ाव पर बैठे गुर्जरों को बात बनने की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री से वार्ता का ब्यौरा बुधवार को संभागीय आयुक्त महापड़ाव स्थल पर देंगे। उल्लेखनीय है कि बैसला मंगलवार रात को मुख्यमंत्री से बातचीत के बाद मीडिया से कोई बात किए बिना ही सीधे निकल गए थे।
यह हो सकती है रणनीति 
बुधवार को अजमेर में महापड़ाव पर बैठे गुर्जरों को संभागीय आयुक्त संबोधित करेंगे। उस समय कर्नल बैसला भी मौजूद रह सकते हैं। संभागीय आयुक्त गुर्जरों से महापड़ाव खत्म करने का आग्रह करने के साथ ही सरकार की ओर से कुछ आश्वासन भी दे सकते हैं।
तनाव भरा माहौल
अजमेर में महापड़ाव स्थल पर दो दिन से तनाव भरा माहौल है। मंगलवार को भी जब बैसला जयपुर के लिए रवाना हुए तो पड़ाव स्थल पर नारेबाजी करते हुए कुछ युवकों में लाठियां लहराईं। इसी दौरान किसी ने प्रशासनिक कैंप की ओर एक पत्थर उछाल दिया। इससे पुलिस में हड़बड़ी मची और माहौल तनाव भरा हो गया। बाद में पुलिस अफसरों ने गुर्जर नेताओं से बात करके मामले को शांत कराया। हाईवे पर पुलिस और आरएसी की टुकडियों ने गश्त भी की।
बैसला आज खेड़ली में 
बैसला बुधवार को सवाई माधोपुर के खेड़ली गांव में महापड़ाव की शुरुआत करेंगे। गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक शिवलाल गुर्जर ने बताया कि पड़ाव खाली खेत में होगा।
पड़ावों को महापड़ावों में बदल दो: बैसला
 
जयपुर आने से पहले बैसला ने अजमेर में अपने समर्थकों से महापड़ाव पर संख्या दोगुनी करने को कहा। उन्होंने कहा कि वे आखिरी अल्टीमेटम लेकर जा रहे हैं। अगर ना में जवाब मिला तो हम जयपुर कूच करेंगे। बैसला मंगलवार रात जयपुर पहुंच गए। इस बीच उन्होंने भास्कर से कहा कि सरकार बुलाने के लिए समय तय करेगी, उसी के अनुरूप वे जयपुर पहुंचेंगे। बैसला बुधवार को खेड़ली गांव में महापड़ाव की शुरुआत करेंगे।

विरोध कर रहे हैं, उनका बहिष्कार किया जाएगा : तंवर
संघर्ष समिति के उपाध्यक्ष कैप्टन हर प्रसाद तंवर ने मंगलवार को करौली के बाजार में पंचों की बैठक में कहा कि समाज के जो लोग आंदोलन का विरोध कर रहे हैं, उनका बहिष्कार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 3 अप्रेल को समाज के लोग जयपुर के लिए कूच करेंगे। बैठक में समाज के लोगों ने कहा कि कूच में बंजारा, गाडिय़ा लुहार, रेबारी अपने साथ हजारों की संख्या में ऊंट, गाय, भैंस, भेड़, बकरियां और अन्य जानवर लेकर आएंगे।
(दैनिक भास्कर से साभार)

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

सबसे ज्यादा देखी गईं