गुर्जर महापड़ाव शुरू

Powered by Blogger.

वक्ताओं ने कहा- दो दिन छाण में शांतिपूर्ण रहेगा महापड़ाव, महापंचायत में सात हजार लोग आए, सरकार ने 4 प्रतिशत आरक्षण की घोषणा नहीं की तो दो दिन बाद कुशालीदर्रा के लिए होगा कूच

 सवाई माधोपुर. गुर्जर महासभा के तत्वावधान में बुधवार को सुबह 11 बजे कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला की अध्यक्षता में छाण कस्बे में गुर्जर समाज की महापंचायत शुरू हुई। इसमें समाज के हजारों लोग उपस्थित थे। महापंचायत में उपस्थित लोगों ने आरक्षण के अलावा शिक्षा एवं विकास के मुद्दों पर चर्चा की। बाद में सभी उपस्थित लोगों ने कहा कि यह सरकार आरक्षण के मुद्दे पर ऐसे मानने वाली नहीं है। हमें इसके लिए संघर्ष करना होगा। इसके बाद उपस्थित लोगों ने महापंचायत को शाम 5 बजे महापड़ाव में तब्दील कर दिया।

महापंचायत में बैंसला ने कहा कि सरकार को हमने 4 प्रतिशत आरक्षण देने के लिए 10 दिन का समय दिया था। इसमें से आज आठ दिन बीत गए, दो दिन बाकी है। इसके बाद बैंसला सहित उपस्थित लोगों ने महापंचायत को आज ही महापड़ाव में बदलने का फैसला किया। प्रधान गिर्राज गुर्जर ने बताया कि दो दिन उनका छाण में ही महापड़ाव रहेगा तथा शांतिपूर्ण रहेगा। इसके बाद भी सरकार उनको उनका 4 प्रतिशत आरक्षण देने की घोषणा नहीं करती है तो इसके बाद महापड़ाव यहां से चलकर कुशालीदर्रा पर लगाया जाएगा। इसके बाद वहां पर ही आगे की रणनीति तैयार की जाएगी।

बैठक को कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला के अलावा, खंडार प्रधान गिर्राज गुर्जर, गिर्राज गुर्जर एडवोकेट, रंगलाल गुर्जर, हेमराज पटेल छाण, राजस्थान गुर्जर महासभा के जिलाध्यक्ष रामसिंह गुर्जर, पिंटू सिंह खंडार, मीठालाल बैरना, मोहन सिंह भरतपुर, मुखराज गंगापुर, मुकेश गंगापुर, किशनलाल टोडवाल, मूलचंद डायरेक्टर, छीतर नेता कैलाशपुरी, एडवोकेट वीरेंद्र सिंह गुर्जर आदि ने संबोधित किया।

जो भी जाना चाहे, वह जा सकता है घर


कमलेश गुर्जर एडवोकेट ने बताया कि महापंचायत में निर्णय लिया गया कि समाज का जो कोई भी व्यक्ति महापड़ाव से जाना चाहता है, वह जा सकता है, उसको माला पहनाकर एवं वाहन से उसके घर भिजवाया जाएगा। इस घोषणा के बाद एक भी व्यक्ति महापड़ाव से उठकर नहीं गया।

महापड़ाव में इस समय करीब सात हजार के आसपास लोग बैठे हुए हैं। उनके लिए भोजन वहीं बनाया जा रहा है। महापड़ाव में उपस्थित लोग नाच-कूद कर रहे हैं तथा रसिया गा रहे हैं।

उन्होंने बताया कि अभी उनका महापड़ाव शांतिपूर्ण है। अभी किसी प्रकार का जाम नहीं लगाया गया है। उन्होंने बताया कि दो दिन में सरकार उनकी मांग को नहीं मानती है तो उसके बाद कुशालीदर्रा के लिए कूच किया जाएगा।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

सबसे ज्यादा देखी गईं