Wednesday, November 24, 2010

भाईचारे से रहने का संकल्प

गुर्जर-मीणा सद्भावना मंच की ओर से बुलाए गए स्नेह मिलन सम्मेलन समारोह में उमड़े गुर्जर-मीणा समाज के लोग

जयपुर. गुर्जर और मीणा समाज के प्रमुख नेताओं ने एक मंच पर आकर सौहार्द और भाईचारे से रहने की अपील की है। सोमवार को बिड़ला ऑडिटोरियम में गुर्जर-मीणा सद्भावना मंच की ओर से बुलाए गए स्नेह मिलन सम्मेलन में बड़ी तादाद में दोनों समाज के नेता और आम लोग पहुंचे। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री को भी आना था, लेकिन वे नहीं पहुंच पाए।
सम्मेलन में वक्ताओं ने कहा कि गुर्जर और मीणा सदियों से एक साथ भाई-भाई की तरह रहते आए हैं। निहित राजनीतिक स्वार्थों के कारण कुछ लोगों ने दोनों समाजों में दरार पैदा कर दी, जिसे अब भरा जाना जरूरी है। आपस में बांटने वाले नेताओं की चालों से हमें सतर्क रहना होगा। गुर्जर मीणा सद्भावना मंच के डॉ. विक्रम गुर्जर और बीएल मीणा ने कहा कि दोनों समाज को एकजुट करने के लिए हर गांव में सद्भावना मंच की शाखाएं खोली जाएंगी।
सम्मेलन में राज्य मंत्री मुरारीलाल मीणा, संसदीय सचिव रामकेश मीणा, विधायक रामस्वरूप कसाना, अलाउद्दीन आजाद, माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के अध्यक्ष सुभाष गर्ग, जाट महासभा के प्रदेशाध्यक्ष राजाराम मील, पंजाब कैडर के आईएएस सुमेर सिंह गुर्जर, मुंबई के आयकर आयुक्त के.सी. घुमरिया, पूर्व मंत्री रामस्वरूप मीणा सहित दोनों समाज के कई नेताओं विचार व्यक्त किए।

No comments:

Post a Comment

सबसे ज्यादा देखी गईं