विशेष पिछड़ा वर्ग के छात्रों को तीन किस्तों में मिलेगी सहायता

Powered by Blogger.
जयपुर. अखिल भारतीय और राज्य सेवाओं की तैयारी के लिए विशेष पिछड़ा वर्ग के छात्रों को तीन किस्तों में सहायता राशि दी जाएगी। इसके तहत राज्य सेवा के लिए 50,000 और अखिल भारतीय स्तर की सेवाओं के लिए 1 लाख रुपए की सहायता राशि दी जाएगी। इसके लिए राज्य सरकार ने देवनारायण योजना के तहत अनुप्रति योजना नियम जारी कर दिए हैं।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बजट भाषण में अनुसूचित जाति और जनजाति के छात्रों के समान ही विशेष पिछड़ा वर्ग के छात्रों को भी सहायता राशि उपलब्ध कराने की घोषणा की थी। सहायता राशि का भुगतान बैंक खाते के माध्यम से किया जाएगा। अभ्यर्थी को सहायता राशि के लिए परीक्षा परिणाम घोषित होने के बाद 30 दिन में आवेदन करना होगा।
दो लाख रुपए की वार्षिक आय वाले ही होंगे पात्र
इस योजना में सहायता राशि के लिए 2 लाख रुपए सालाना आय वाले परिवारों के बच्चे ही पात्र माने जाएंगे। इसके लिए उन्हें तहसीलदार अथवा राज्यकर्मी होने पर विभागाध्यक्ष या कार्यालयाध्यक्ष का प्रमाण पत्र भी देना होगा।
सरकारी कर्मचारी नहीं होंगे पात्र
योजना के तहत सरकारी नौकरी में रहते हुए राज्य सेवा अथवा अखिल भारतीय सेवा की तैयारी करने के लिए कोई सहायता राशि नहीं दी जाएगी।
ऐसे मिलेगी सहायता राशि
राजस्थान राज्य एवं अधीनस्थ सेवा (सीधी भर्ती) संयुक्त प्रतियोगी परीक्षा के लिए प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण होने पर 25,000 रुपए, मुख्य परीक्षा में उत्तीर्ण होने पर 20,000 रुपए और साक्षात्कार में उत्तीर्ण होने पर 5,000 रुपए।
अखिल भारतीय सिविल सेवा परीक्षा में प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण करने पर 65,000 रुपए, मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण करने पर 30,000 रुपए और साक्षात्कार में उत्तीर्ण होने पर 5,000 रुपए।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

सबसे ज्यादा देखी गईं