गुर्जर 13 जून को करेंगे राजस्थान बंद

Powered by Blogger.
सिकंदरा के पास राष्ट्रीय महापंचायत, 5 प्रतिशत आरक्षण लागू करने के लिए सरकार को दिया 1 जून तक का समय
दौसा जिला . आरक्षण के मुद्दे पर सिकंदरा के पास हुई राष्ट्रीय महापंचायत में गुर्जरों ने कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला का फैसला खारिज करते हुए 13 जून को राजस्थान बंद का एलान किया है। साथ ही सरकार को 5 प्रतिशत आरक्षण लागू करने के लिए 1 जून तक का समय दिया है।  
महापंचायत में दिल्ली के पूर्व विधायक रामवीरसिंह विधूड़ी ने कहा कि अब तक महापंचायतें बहुत हो चुकी हैं। अब सीधे रणनीति घोषित होगी। इससे पहले विधूड़ी ने दोहराया कि कर्नल बैसला ने अपने स्वार्थों के लिए न केवल समाज को बेचा बल्कि 72 शहीदों की कुर्बानी को भी खराब किया है। पूर्व विधायक गोपीचंद गुर्जर, दाताराम गुर्जर, प्रहलाद गुंजल, पूर्व मंत्री नाथूसिंह गुर्जर, कालूलाल गुर्जर, पूर्व महापौर शील धाभाई, हरियाणा के पूर्व मंत्री करतारसिंह भड़ाना, विधायक हेमसिंह भड़ाना सहित कई गुर्जर नेताओं ने भी बैसला को गलत फैसले करने के लिए कोसा और उन पर स्वार्थसिद्धि के आरोप लगाए।   पूर्व जिला प्रमुख रामगोपाल गार्ड, गुर्जर महापरिषद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमराव डोई, राजकुमारी गुर्जर, अलका सिंह, वीनेश गोरसिद्धी, गुर्जर महासभा के प्रदेश संगठन महामंत्री अमरसिंह कसाना, जिलाध्यक्ष मनफूल पटेल व दिनेश पांचोली ने भी अपने विचार रखे।
पंचायत में व्यवधान : महापंचायत में गुर्जरों में आपस में ही विवाद हो गया। बाद में विवाद कर रहे कुछ युवकों ने पंचायत से बाहर भेज दिया। वक्ताओं ने विवाद करने वाले युवकों को सरकार और बैसला का एजेंट बताया।
नन्ही पूनम ने भी रखे विचार
महापंचायत में नन्ही बालिका पूनम गुर्जर ने भी अपने विचार रखते हुए समाज केा आरक्षण की वकालात की। बालिका के तेवर व आक्रामक शैली को देख मंच पर मौजूद नेताओं ने बालिका के हुनर की सराहना की। बालिका के भाषण में भी कर्नल का समझौता छाया रहा।
महापंचायत में रखी गईं ये मांगे
1.  80,000 भर्तियों में ही गुर्जरों को 5त्न आरक्षण मिले।
2. सरकार इस आरक्षण की घोषणा 1 जून तक करे।
3. जेलों में बंद गुर्जरों को तुरंत रिहा करने के साथ ही मुकदमे वापस लिए जाएं। 
4. पिछले आंदोलनों में घायल और नि:शक्त लोगों को पेंशन मंजूर हो।  
5. केंद्र सेना में गुर्जर रेजीमेंट बनाने की सिफारिश करे।  
6. देवनारायण विकास बोर्ड का बजट बढ़ाकर काम तुरंत शुरू हो।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

सबसे ज्यादा देखी गईं