Thursday, April 22, 2010

...नहीं तो जाम कर देंगे राजस्थान

बैसला ने कहा, हमें पांच प्रतिशत आरक्षण चाहिए और वो भी भर्तियां जारी होने से पहले, कैप्टेन हरप्रसाद हरप्रसाद तंवर ने कहा, पांच प्रतिशत आरक्षण से नीचे कुछ भी मंजूर नहीं  
                    
(दौसा जिला-तोतिया का नंगला महरावर, राघवेन्द्रसिंह पाँचोली / राजेन्द्रसिंह पीपलखेड़ा)
गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष कर्नल किरोड़ीसिंह बैसला ने कहा कि हमें पांच प्रतिशत आरक्षण चाहिए और वो भी भर्तियां जारी होने से पहले। अगर जल्दी ही ऐसा नहीं हुआ तो राजस्थान जाम कर देंगे। इसकी जिम्मेदारी सरकार की होगी।
 वे बुधवार को महरावर के समीप तोतिया का नंगला मोरोली में गुर्जर आरक्षण के समर्थन में आयोजित गुर्जर महापंचायत को संम्बोधित कर रहे थे। बाद में इस महापंचायत को महापड़ाव में बदल दिया गया। उन्होंने कहा कि महात्मा गाँधी को अपना आदर्श मानने वाली कांग्रेस की सरकार गांधीवादी तरीके से आन्दोलन कर रहे गुर्जरों की जायज मांग को नजर अंदाज कर रही है।
वार्ता के बहाने आंदोलन दबाना चाहती है सरकार
आरक्षण संघर्ष समिति के उपाध्यक्ष कैप्टन हरप्रसाद ने कहा कि वार्ता के बहाने आंदोलन को दबाना चाहती है सरकार। वार्ता में कुछ बिन्दुओ को छोडकर सरकार की ओर कोई सकारात्मक पहल नहीं की गई है, जिससे सरकार की नीयत उजागर हो रही है। सरकार गुर्जरों में से कुछ स्वार्थी लोगों को तोड़कर आन्दोलन को विफ ल करने का प्रयास कर रही है। कैप्टन ने सरकार को सरकार गुर्जर समाज की इस माँग को गम्भीरता से विचार कर हल निकाले। पचास प्रतिशत के भीतर अलग से श्रेणी बनाकर पाँच प्रतिशत आरक्षण दे, हमें इसके अलावा कोई समझौता मंजूर नही है। जब तक हमारी माँग पूरी नही होगी तब तक सभी महापड़ाव यथावत जारी रहेंगे । इस अवसर पर कैप्टन जगराम, भीमसिंह करौली, भूराभगत बयाना, लाखनसिंह पाँचौली सहित हजारों गुर्जर मौजूद थे ।

No comments:

Post a Comment

सबसे ज्यादा देखी गईं