जयपुर कूच आज से, हिंडौन में पहला पड़ाव

Powered by Blogger.
गुड़ला में हुई गुर्जरों की महापंचायत में घोषणा, बैसला ने कहा-इस बार आर या पार, या तो सरकार हमारा हक दे दे नहीं तो चैन से राज नहीं करने देंगे
(करौली जिला). आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जरों ने एक बार फिर ताल ठोंक दी है। गुर्जर रविवार सुबह 10 बजे गुड़ला से जयपुर के लिए कूच कर देंगे। पहला पड़ाव हिंडौन की नई मंडी में होगा, जहां आगे की रणनीति तय की जाएगी। करौली के गुड़ला गांव में रामदास महाराज की अध्यक्षता में  हुई गुर्जर समाज की महापंचायत में  यह एलान करते हुए कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला ने कहा-इस बार संघर्ष आर-पार का होगा। या तो सरकार हमारा हक दे दे, नहीं तो हम उसे चैन से राज नहीं करने देंगे।
दोपहर करीब एक बजे हुई महापंचायत में सूरज की तरह ही वक्ताओं के भी तेवर तीखे रहे। सबने एक स्वर में यही दोहराया हमें 50 प्रतिशत के भीतर ही 5 प्रतिशत विशेष आरक्षण चाहिए। सरकार कैसे भी दे। वक्ताओं ने समाज के लोगों से भी दलगत व व्यक्तिगत आग्रह छोड़कर समाज की इस लड़ाई में शामिल होने का आह्वान किया। मंच संचालन संघर्ष समिति के प्रवक्ता डा. रूपसिंह गुर्जर ने किया। आरक्षण संघर्ष समिति के उपाध्यक्ष हरप्रसाद तंवर, महुआ के पूर्व विद्यायक हरज्ञान सिंह, आरक्षण संघर्ष समिति के दौसा जिलाध्यक्ष मनफूल सिंह, ट्रक यूनियन अध्यक्ष भरत सिंह, राधिका देवी, अलका गुर्जर, धौलपुर के पूर्व जिलाप्रमुख ध्रुब सिंह, अशोक सिंह गुर्जर, अतर सिंह एडवोकेट, अवतार एडवोकेट, सूबेदार भीम सिंह, हुकम सिंह कश्यप, जिपस राजाराम, शिवलाल, विजय सिंह, मूडिया सरपंच नरोत्तम, भूरा भगत, अर्जुन, प्रीतम, भीम सिंह, भानू प्रताप सिंह, जतन सिंह, विजय सिंह, कै. जगराम, अल्का, महेन्द्र सिंह खंडेला, डा. मानधाता सिंह, छिंगा गुर्जर, बंटी भरतपुर, राजपाल, कप्तान, सूबेदार प्रहलाद, बदनसिंह, रामभान सिंह, उदल सिंह पेंचला सहित कई लोगों ने संबोधित किया।
पुलिस-प्रशासन चौकस
गुर्जरों के कूच को देखते हुए पुलिस-प्रशासन भी चौकस है। आईजी मधुसुदन ने पुलिस अधिकारियों की बैठक ली और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। नई मंडी में महापड़ाव को देखते हुए हिंडौन में अतिरिक्त सुरक्षाबलों की विशेष व्यवस्था की गई है।
नहीं चलेंगी रोडवेज की बसें
गुर्जरों के महापड़ाव के दौरान रोडवेज प्रशासन भी किसी प्रकार का रिस्क नहीं लेना चाहता। रविवार को हिंडौन से करौली के लिए रोडवेज की कोई बस नहीं जाएगी।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

सबसे ज्यादा देखी गईं