Thursday, January 28, 2010

जनम्यो-जनम्यो साडू की झोळ्यां मैं बाळो देव...

अमरदासजी महाराज के सानिध्य में धनवाड़ा के देवनारायण मंदिर में चार फीट ऊंची और 7 क्विंटल वजनी प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा
(झालावाड़ जिला). धनवाड़ा में गुर्जर समाज के आराध्य देव भगवान देवनारायण की चार फीट ऊंची और 7 क्विंटल वजनी प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा की गई। इससे पूर्व शोभायात्रा निकाली गई, जिसमें खास आकर्षण देव भगवान की सजीव झांकियां थी।
शोभायात्रा खंडिया स्थित भगवान देवनारायण मंदिर से रवाना होकर कोतवाली होते हुए धनवाड़ा पहुंची। इस दौरान बैंडबाजों की धुन पर समाज के लोग नाचते-गाते चल रहे थे। स्वागत के लिए जगह-जगह तोरणद्वार सजाए गए थे। 24 बगड़ावत घुड़सवार चल रहे थे। समाज के युवकों ने शोभायात्रा में अखाड़ेवाजी का भी प्रदर्शन किया। शोभयात्रा के धनवाड़ा पहुंचने पर अमरदासजी महाराज के सानिध्य में मूर्ति की प्राणप्रतिष्ठïा की गई। इसके बाद महाप्रसादी का वितरण किया गया। शोभायात्रा धनवाड़ा पहुंचने से पूर्व मंगलपुरा की पुरानी कोतवाली  स्थित भगवान देवनारायण के मंदिर पर पहुंची थी। जहां पर पूजा-अर्चना की गई। समाज के जिलाध्यक्ष छगनसिंह गुर्जर ने बताया कि शहर में पहली बार इतने व्यापक पैमाने शोभायात्रा निकाली गई। समारोह में गुर्जर समाज के ओम गुर्जर, दिनेश डोई, श्याम गुर्जर, रूपलाल फागणा, नैनालाल गुर्जर, नंदलाल, कन्हैयालाल पोसवाल, हरिराम, अरविंद गौचर, मनोज गुर्जर, पथिक सेना के अध्यक्ष हरिसिंह गुर्जर समेत समाज के लोग मौजूद थे।

No comments:

Post a Comment

सबसे ज्यादा देखी गईं