गुर्जर युवाओं से छलावा : डोई

Powered by Blogger.
समाज के सम्मेलन में सरकार पर लगाया आरोप, रवैया नहीं बदलने पर दी आंदोलन की चेतावनी 
दौसा. देवनारायण मंदिर पर गुरुवार को गुर्जर समाज का सम्मेलन हुआ। सम्मेलन में वक्ताओं ने राज्य सरकार पर समाज के युवाओं के साथ छलावा करने का आरोप लगाते हुए आंदोलन की चेतावनी दी। समाज के लोग रैली के रूप में कलेक्ट्रेट पहुंचे तथा कलेक्टर को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा।
सम्मेलन को संबोधित करते हुए संयोजक फतेह सिंह डोई ने कहा कि देवनारायण बोर्ड द्वारा समाज के युवाओं को दी जा रही सुविधाएं पर्याप्त नहीं है। गुर्जर समाज के साथ सरकार छलावा कर रही है। इससे युवा वर्ग में आक्रोश व्याप्त है। उन्होंने कहा कि ओबीसी वर्ग से गुर्जर जाति का नाम हटाने की सरकार की साजिश को कामयाब नहीं होने देंगे। सरकार का रवैया नहीं बदला, तो प्रदेश स्तर पर आंदोलन किया जाएगा। पूर्व मंत्री कालूराम गुर्जर ने कहा कि गुर्जर समाज के छात्र-छात्राओं को एससी/एसटी की तरह सुविधा नहीं देकर सरकार भेदभाव कर रही है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सम्मेलन को प्रदेश महामंत्री मोहनलाल वर्मा, देवनारायण पाली, ओमप्रकाश लोमोद्र, पृथ्वी सिंह चौहान, जिलाध्यक्ष कंवरपाल अंदाना, अमरसिंह कसाना, श्रवणसिंह कैलाई, मानसिंह, गुर्जर महापरिषद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमराव सिंह डोई, हरदेव सिंह खैरवाल, रामेश्वर सुमेल, देवनारायण बैसला आदि ने भी संबोधित किया।
रैली में की नारेबाजी
सम्मेलन के बाद रैली के रूप में लोग कलेक्ट्रेट पहुंचे। रैली देवनारायण मंदिर से आगरा रोड, सोमनाथ चौराहा होते हुए कलेक्ट्रेट पहुंची। इस बीच लोगों ने मांगों को लेकर नारेबाजी की। कलेक्ट्रेट पहुंचकर कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।
ज्ञापन में क्या
  1.  देवनारायण बोर्ड के तहत छात्राओं को स्कूटी के लिए 50 प्रतिशत अंकों का प्रतिबंध हटाएं। स्वयं पाठी व निजी कॉलेज की भी छात्राओं को भी स्कूटी मिले।
  2. देवनारायण बोर्ड द्वारा सभी जिला मुख्यालयों पर छात्र-छात्राओं के आवासीय शिक्षण संस्थाएं खोलें।
  3. आरएएस व आईएएस, प्री परीक्षा उत्तीर्ण करने पर एससी, एसटी की तरह गुर्जरों को भी छात्रवृत्ति मिले। एससी, एसटी वर्ग की तरह प्रतियोगी परीक्षा की कोचिंग क्लास लगाएं।
  4.  देवनारायण बोर्ड का बजट बढ़ाकर 500 रुपए करें। कक्षा 6 से उच्च शिक्षा तक एसी, एसटी वर्ग के छात्रों के बराबर छात्रवृत्ति दी जाए एवं क्रीमिलेयर के प्रतिबंध को हटाया जाए।
  5.  एसबीसी वर्ग के तहत गुर्जरों को विधानसभा द्वारा आरक्षण दिया जाए।
  6. अन्य पिछड़ा वर्ग के प्रमाण पत्र बनाने पर रोक हटाई जाए। कैलाई देवनारायण मंदिर की 14 बीघा जमीन को देवनारायण शिक्षा समिति गुर्जर समाज के नाम आबंटित की जाए। 
 (दौसा भास्कर से साभार)

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

सबसे ज्यादा देखी गईं