Wednesday, September 14, 2011

समाज में शिक्षा के प्रसार पर जोर

देवधाम जोधपुरिया के लक्खी मेले में आयोजित प्रतिभा सम्मान समाराह में समाज के प्रतिनिधियों ने एक सुर में कहा-आगे बढऩा है तो अपने बच्चों को पढ़ाना होगा

निवाई-जिला टोंक (कजोड़ मल पोसवाल). देवधाम जोधपुरिया में गुर्जर समाज की 151 प्रतिभाओं का सम्मान किया गया। मौका था भगवान देवनारायण के लक्खी मेले का। समारोह में देशभर से आए समाज के गुर्जर नेताओं ने एक सुर में समाज में शिक्षा के प्रसार की बात कही। सबने माना कि अगर समाज को आगे बढऩा है तो नई पीढ़ी को पढ़ाना होगा।
सरकार हमारे धैर्य की परीक्षा न ले : बैसला
आरक्षण संघर्ष समिति केसंयोजक कर्नल किरोडीमल बैंसला ने कहा कि आरक्षण हमारा अधिकार है और हम इसे लेकर रहेगें। सरकार हमारें धैर्य की परीक्षा नहीं ले अन्यथा इस बार आर-पार की लड़ाई होगी। सरकार हमारे साथ लिखित समझौता करती है और बाद में मुकर जाती है। सरकार समाज की पीड़ा समझे और 15 दिन में तत्काल प्रभाव से 5 प्रतिशत आरक्षण लागू करें। उन्होंने समाज के लोगों से जितनी चादर हो उसी के अनुरूप पैर फैलाने की बाते कहते हुए कर्जा नहीं करने का आह्वान किया। उन्होनें कहा कि बेटी की शादी में व्यर्थ खर्च करने के बजाय उसकी शिक्षा पर जी खोल कर खर्च करें ताकि उसकी व आगे वाले परिवार की जहां वह जाएगी जिंदगी संवर सके। हमें सामाजिक कुरीतियों, नुक्ता प्रथा, बाल विवाह, बालश्रम इत्याादि प्रथाओं को जड़ से सम्माप्त करना होगा। मेरा मन व्यथित हो उठता है जब मैं आजादी के 64 साल बाद भी गुर्जरियों को घूंघट में बकरियों की मींगनी बीनते देखता हूं। गोबर के कण्डे बनाते देखता हूं। रामप्यारी ,धोली, लादी और धापू ने क्या पाप किया है जो वो कलेक्टर नहीं बन सकती है। मेरे लिए सबसे खुशी का दिन वह होगा जब मेरे समाज की बच्ची कलेक्टर बनकर मुझे आंमत्रित करेगी कि बाबोसा एक कप चाय तो पी जाओ। 
आगे बढऩा है तो पढऩा होगा : जौनापुरिया
 गुर्जर संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखवीर सिंह जौनापुरिया ने कहा कि हमें आगे बढऩा है तो समाज में शिक्षा के प्रसार पर जोर देना होगा। विशेषकर बालिकाओं की पढ़ाई पर। हमारी बेटी पढ़ेगी तभी हम पढी-लिखी बहू लाने की उम्मीद कर सकते हैं। वर्तमान में शिक्षा से ही सामाजिक, आर्थिक व राजनीतिक परिवर्तन संभव है। यदि समाज की बालिकाओं की शिक्षा के लिए धन की जरूरत है तो वे इसके लिए मैं पूरा सहयोग करने के लिए तैयार हूं। समाज को यदि सही दिशा में आगे बढऩा है तो हमें कुरीतियो को जड़ से उखाड़कर फंैकना होगा। समाज के उत्थान के लिए हमें मिलकर प्रयास करने होंगे।

हमें अपनी सोच बदलनी पड़ेगी : सुनीता बैसला
समारोह में अखिल भारतीय आयकर विभाग की अधिकार सुनीता सुनीता बैसला ने कहा कि आज 70 लाख की आबादी होने के बाद भी हम पिछड़े हुए हैं, उसका हमारा मूल कारण है हमारी सोच है। हम आज भी मन्दिर निर्माण, यज्ञ हवन इत्यादि की बात करते है किन्तु अपने बालकों को पढ़ाने की बात नहीं करते। हमें इस सोच को बदलना पड़ेगा।
एकता का महत्व समझें : भैरवसिंह
भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी भैरव सिंह ने कहा कि संघं शक्ति कलेयुगे अर्थात कलियुग में संगठन में ही शक्ति है अत: समाज को संगठित होकर ही काम करना होगा। आरक्षण संघर्ष समिति के प्रवक्ता डा रूपसिंह ने कहा कि हम देव महाराज से यह प्रार्थना करते हैं कि वे सरकार को सद्बबुद्धि दे। उन्होने कहा कि राज्य सरकार की और से 200 करोड का बजट देवनारायण बोर्ड के लिए दिया है, किन्तु उसका सदुपयोग नहीं हो पा रहा है । आरक्षण संघर्ष समिति के केप्टेन हरप्रसाद तंवर ने कहा कि बनस्थली विद्यापीठ की तरह समाज की बालिकाओं की उच्च शिक्षा का संस्थान होना चाहिए, तब ही गुर्जर समाज आगे बढ़ सकता है। टोंक गुर्जर समाज के पूर्व जिलाध्यक्ष राजेन्द्र गुर्जर ने भी समाज में नशा मुक्ति अभियान चलाने का आह्वान किया। स्थानीय विद्यायक कमल बैरवा ने छोरिया रोड का ठीक कराने का आश्वासन दिया ।
ये भी रहे मौजूद
समारोह में बहादुर सिंह प्राचार्य,रूपनारायण प्रधानाचार्य,सुभाष छाबड़ी चैयरमैन रेवाडी़,धर्म वीर गुर्जरप्रधान सोहना,सुखवीर खटाणा,चैयरमैन सोहना,प्रमुख समाजसेवी प्रेमसिंह घर्राटी, नई दिगीके मदन लाकहिया,प्रमुख समाजसेवी सीताराम लांगड़ी हरभंावता, उमेरण अलवर के प्रधान शिव लाल गुर्जर, थानागाजी विधायक हेम सिंह भडाणा,मानसिंह गुर्जर गंगापुर सिटी,कमर रब्बानी चेची,सूचना जन सम्पर्क अधिकारी रामफूल गुर्जर,पूर्व जिला प्रमुख सरोज गुर्जर,पूर्व पंसं सदस्य मांगी लाल डोई,मोहन लाल बागडी, सुरेश डोई,पथिक सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष महावीर पोसवाल,राजस्थान विश्वविद्यालय की नव निर्वचित उपाध्यक्ष सुश्री आभासिंह,ट्रस्ट के अध्यक्ष केसर लाल गुर्जर,उपाध्यक्ष सुरज्ञान खाटरा, महामंत्री राम किशन गुर्जर बहादंरपुरा,कोषाध्यक्ष रामेश्वर पोसवाल,प्रचार -प्रसार मंत्री जगदीश लांगडी,हीरा लाल भडाणा, महेन्द्र कसाणा,सम्मान समारोह के अध्यक्ष डा के एल गुर्जर, संयोजक गिरिराज प्रसाद गुर्जर ,प्रवक्ता कजोड मल पोसवाल बस्सी,लक्ष्मण मास्टर,न्सी पोसवाल,डा बदरी,संरज्ञान वकील, लालराम नेकराडी,श्रवण भोपा, राम भजन पोसवाल, प्रधुम्मन सिंह, सुरजकरण जोधपुरिया श्योजल नवंरंगपुरिया,सवाई भोज राम सिंह कसाणा सहित अनेक लोग मौजूद थेँं।

No comments:

Post a Comment

सबसे ज्यादा देखी गईं