शहीद ओमप्रकाश गुर्जर की तेसगांव में सैनिक सम्मान से अंत्येष्टि

Powered by Blogger.
दस वर्षीय भतीजे दिलीप ने दी उनकी चिता को मुखाग्नि, 5 फरवरी को रात करीब 8.30 बजे ऑपरेशन सर्च के दौरान मुठभेड़ में हो गए थे शहीद  




(करौली जिला-नादौती).  शहीद ओमप्रकाश गुर्जर (३२) का मंगलवार को 10.30 बजे उनके गांव तेसगांव में सैनिक सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया। दस वर्षीय भतीजे दिलीप ने उनकी चिता को मुखाग्नि दी। द्वितीय राजपूत रेजीमेंट डोडा जम्मू में कार्यरत ओमप्रकाश 5 फरवरी को ऑपरेशन सर्च के दौरान रात करीब 8.30 बजे मुठभेड़ में शहीद हो गए थे। 
सुबह 9.30 बजे सेना की गाड़ी उनका शव लेकर गांव पहुंची तो पूरा गांव शोक में डूब गया। पत्नी नीरोदेवी और मां रामपति तो बेहोश हो गईं। दोनों बेटियों का भी रो-रोकर बुरा हाल था। गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के डॉ. कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला, हर प्रसाद तंवर, कैप्टन जगराम गुर्जर, पूर्व मुख्य सचेतक हरिसिंह महुआ, पूर्व जिला प्रमुख शिवदयाल मीणा, प्रधान प्रतिनिधि पटेल लोहड्ज्या मीणा, एसडीएम अरबिन्द कुमार सक्सैना, डिप्टी डॉ. तेजपाल सिंह, थाना प्रभारी गुलाबसिंह मीणा सहित हजारों  लोग शहीद को पुष्पांजलि देने पहुंचे।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

सबसे ज्यादा देखी गईं