15 तारीख सरकार की और 21 हमारी

Powered by Blogger.
गुर्जरों की राष्ट्रीय महापंचायत अल्टीमेटम के साथ संपन्न


(सवाई माधोपुर जिला-गंगापुर सिटी) .  बैराड़ा कांड को लेकर बुधवार को देवनारायण मंदिर पर कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला की अध्यक्षता में हुर्ई गुर्जरों की राष्ट्रीय महापंचायत अल्टीमेटम के साथ संपन्न हो गई। गुर्जर नेताओं ने बताया कि पुलिस और प्रशासन ने उनकी मांगें पूरी करने के लिए 15 अक्टूबर तक का समय मांगा है और उन्होंने अपनी ओर से इस समय सीमा को एक सप्ताह और बढ़ाते हुए 21 अक्टूबर का समय दिया है। अगर इसके बाद भी मांगें पूरी नहीं हुई तो गुर्जर समाज बड़ा आंदोलन करेगा। महापंचायत को देखते हुए प्रशासन व पुलिस ने शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए भारी सुरक्षा बंदोबस्त किए थे। महापंचायत को कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला व प्रहलाद गुंजल सहित अन्य गुर्जर नेताओं ने संबोधित किया।
उल्लेखनीय है कि बैराड़ा गांव में थानेदार की रिवॉल्वर चोरी करने के आरोप में पुलिस ने १० लोगों पर केस दर्ज किया था। इस मुद्दे पर मुख्यमंत्री व गृहमंत्री से वार्ता विफल होने के बाद गुर्जरों ने आज इन लोगों की रिहाई सहित अन्य मांगों को लेकर महापंचायत की।
पहले मना किया, फिर मान गए वार्ता के लिए
महापंचायत के दौरान एक धड़ा आंदोलन को उग्र कर रास्ता जाम करने जैसे कदम उठाने पर अड़ा था वहीं दूसरे पक्ष के नेता मामले को शांतिपूर्वक निपटाने के प्रयास में थे। प्रशासन ने गुर्जर नेताओं के पास वार्ता का प्रस्ताव भिजवाया तो एक बार तो लोगों ने मना कर दिया। बाद में मंच संचालन कर रहे मानसिंह गुर्जरके समझाने पर महापंचायत प्रतिनिधिमंडल भेजने को राजी हो गई। मिट्ठूसिंह गुर्जर, भूरा भगत बयाना, राजेंद्र टोंक, अतरसिंह एडवोकेट, कैलाश सिंह, रंगलाल एडवोकेट, बाबू सरपंच, रामखिलाड़ी सरपंच, महेंद्र सिंह खेड़ला और गिर्राज खंडार आदि नेताओं का प्रतिनिधिमंडल प्रशासन से वार्ता करने गया। प्रतिनिधिमंडल ने वार्ता के बाद आकर महापंचायत में बातचीत का ब्यौरा दिया।
...तो फिर सड़क पर बैठ जाएंगे


महापंचायत में कर्नल बैसला ने कहा कि सरकार के अधिकारियों ने मांगें पूरी करने के लिए 15 अक्टूबर तक का समय मांगा है। हम अपनी ओर से एक सप्ताह का समय और दे रहे हैं, अगर 21 अगस्त तक बैराड़ा कांड के आरोपियों की रिहाई, झूठे मुकदमे वापस लेने, चोरी का माल बरामद करने और दोषी पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई जैसी मांगें पूरी नहीं हुई तो वे फिर सड़क पर बैठ जाएंगे।
निष्पक्ष जांच करेंगे
मधुसूदन सिंह, भरतपुर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक मधुसूदन सिंह ने कहा कि किसी भी मुद्दे को समय सीमा में बांधना ठीक नहीं होगा। हम जल्दी से जल्दी इस मसले का हल निकाल लेंगे। फिलहाल गुर्जर प्रतिनिधियों की मांग पर मामले का जांच अधिकारी बदलकर जांच अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मामल सिंह को सौंप दी गई है। निष्पक्ष जांच के बाद उचित कार्रवाई की जाएगी।

0 टिप्पणियाँ:

Post a Comment

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

Gadget

This content is not yet available over encrypted connections.

सबसे ज्यादा देखी गईं