Friday, May 28, 2010

गुर्जर शहीदों की याद में आंखें नम

आरक्षण आंदोलन में कुर्बानी देने वाले गुर्जरों की दूसरी बरसी पर सिकंदरा चौराहा, शहीद स्मारक पर श्रद्धांजलि सभा
(दौसा जिला-राघवेन्द्र सिंह गुर्जर). आंखें में पिता को खोने का गम लेकिन उनकी शहादत के गर्व से सीना ताने, सधे कदमों से जब गुर्जर शहीदों के सपूत शहीद स्मारक पर पुष्प अर्पित करने निकले तो वहां मौजूद हर शख्स की आंख नम हो गई। पूरा माहौल गर्वीले नारों से गूंज उठा। मौका था, आरक्षण आंदोलन में शहीद हुए गुर्जर सपूतों की दूसरी बरसी पर सिकंदरा चौराहे पर आयोजित श्रद्धांजलि सभा का। सभा में वीरांगना गुर्जरियों सहित अच्छी-खासी संख्या में महिलाएं भी शामिल हुईं।
सुबह 10 बजे से ही आसपास के गांवों से गुर्जर समाज के लोग चौराहे पर आने शुरू हो गए थे। सबसे पहले शहीदों के चित्रों पर पुष्पांजलि अर्पित की गई। इसके बाद में दो मिनट को मौन रखकर उन्हें श्रद्धंजलि दी गई। सभा में वरिष्ठ कांग्रेसी नेता जी.आर.खटाना, एनएसयूआई के जिला महासचिव चंचल कसाना, थानागाजी विधायक हेमसिंह भडाना, राजस्थान गुर्जर महासभा के प्रदेशाध्यक्ष गोपीचन्द गुर्जर, सियाराम वकील कैमरी, भाजपा नेता अमरसिंह कसाना, महेन्द्रसिंह खेड़ला, गुर्जर समाज के जिलाध्यक्ष मनफूल तूंगड़, महासभा के पूर्व प्रदेश महामंत्री गिरिराज प्रसाद घुरैया, युवा गुर्जर महासभा के कार्यकारी प्रदेशाध्यक्ष मानसिंह बुर्जा, प्रदेश सचिव महावीर रलावता, मंडी समिति अध्यक्ष रायसिंह गुर्जर, रामविलास मरियाड़ा, शहीद स्मारक समिति के सचिव जयसिंह पटेल, पूर्व सरपंच श्रवण सुबेदार, रामप्रसाद पटेलवाला, नंगूराम पाँचौली सहित दर्जनो गुर्जर नेताओं व समाज के सैकड़ों लोगों ने शहीदों के चित्रों पर पुष्प अर्पित किए।                                                        

No comments:

Post a Comment

सबसे ज्यादा देखी गईं