Monday, April 05, 2010

मोटयांरां स्यूं पैली म्हे ज्यान देंगी कर्नल साब

महिलाओं के जोश को कर्नल ने किया सैल्यूट, बांदीकुई में अनशन पर बैठे गुर्जरों से मिलने गए थे कर्नल
(दौसा जिला). आरक्षण की मांग को लेकर बांदीकुई के एसडीएम कार्यालय के सामने तीन दिन से क्रमिक अनशन पर बैठे गुर्जर समाज के लोगों से मिलने रविवार को आरक्षण आंदोलन के अगुआ कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला पहुंचे। अनशन स्थल पर मौजूद महिलाओं का जोश देखकर उन्हें सेल्यूट मारने से खुद को नहीं रोक पाए। महिलाओं का कहना था कि मोटयांरां स्यूं पैली म्हे ज्यान देंगी कर्नल साब। आप तो लड़ो।
बैसला ने अनशन पर बैठे लोगों से कहा कि मुख्यमंत्री अपनी बात पर अडिग रहेंगे और अपना वादा पूरा करेंगे, ऐसा मुझे विश्वास है। यदि ऐसा नहीं हुआ तो आंदोलन किया जाएगा। कैप्टन हरप्रसाद, जिलाध्यक्ष मनफूलसिंह, अखिल भारतीय गुर्जर महासभा के सचिव रामसिंह प्रभाकर, बसपा नेता राजकुमारी गुर्जर, रामसिंह सीआई, संघर्ष समिमि के संयोजक डॉ. हरिसिंह पीलवाल, सुमेरसिंह रलावता, पूर्व जिला परिषद सदस्य नवीन गुर्जर, पार्षद महेन्द्र छाबड़ी, पूर्व सरपंच विजयसिंह गुर्जर सहित अन्य भी इस मौके पर मौजूद थे। इससे पहले बसपा नेता राजकुमारी गुर्जर के नेतृत्व में समाज की महिलाओं ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपा।
जनप्रतिनिधि भी साथ आएं : आरक्षण संघर्ष समिति संयोजक डॉ. हरिसिंह पीलवाल ने समाज के जनप्रतिनिधियों से अनशन में भाग लेने की। उन्होंने चेतावनी दी कि जो जनप्रतिनिधि साथ नहीं देगा समाज उसे समय पर सबक सिखाएगा।
ये बैठे अनशन पर : क्रमिक अनशन पर रविवार को पूर्व सरपंच लालाराम गुर्जर के नेतृत्व में प्रभुदयाल मैंबर, देवनारायण गुर्जर, पूरणसिंह गुर्जर, शिवलाल गुर्जर, किशोर गुर्जर, लालाराम गुर्जर, हरिसिंह गुर्जर, मूलचंद गुर्जर, रामदयाल गुर्जर, श्योनाथ गुर्जर, हरिसिंह, नत्थूसिंह, हरज्ञान, रामकिशन व जगन गुर्जर अनशन पर बैठे।
दौसा में दस वर्षीय आदित्य बैसला भी अनशन पर बैठा
(दौसा जिला). आरक्षण की मांग को लेकर देवनारायण मंदिर व गुर्जर छात्रावास प्रांगण में चल रहा गुर्जर समाज का क्रमिक अनशन तीसरे दिन भी जारी रहा। रविवार को युवा गुर्जर महासभा के जिलाध्यक्ष वीरेंद्र सिंह गुर्जर के नेतृत्व में 31 युवाओं के साथ दस वर्षीय आदित्य बैसला भी अनशन पर बैठा।  कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला उपाध्यक्ष मुकेश पाटोली ने की।  गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक हिम्मत सिंह पाडली ने अनशनकारियों को माला पहनाई तथा गुर्जर महासभा के जिलाध्यक्ष मनफूल सिंह पटेल ने तिलक लगाया। अनशनकारियों में जिला उपाध्यक्ष मुकेश पाटोली, सतवीर सिंह सबलपुरा, विनोद भेडी, राजेश सबलपुरा, भरत सिंह धामस्या, अशोक बैसला, धारा सिंह जगरामपुरा, आदित्य बैसला, रूप सिंह महरावंड, राजेश डोई, हरिकिशन डोई, जीतराम गुर्जर, धनराज महरावंड, रुगन सिंह, नितेश बैसला, देवी सिंह, दिलीप रलावता, सुरेश राजवास, उम्मेद सिंह, शोभाराम पावटा, भगवान सहाय, हरकेश कसाना, बृजलाल छाबड़ी, महेंद्र सिंह, कालू सिंह, नरसी चपराना, राय सिंह ठेकड़ा, सुरेश हर्षाणा, महेंद्र कसाना, रामवीर पोषवाल शामिल थे।
अनशन कारियों को तिलक लगाया माला पहनाई
(दौसा जिला). सिकंदरा में शहीद स्थल पर रविवार को कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला ने माला पहनाकर व तिलक लगाकर गुर्जर समाज के लोगों को क्रमिक अनशन में बैठाया। यहां रामचंद्र खूंटला, नानगराम सिकंदरा, रामप्रसाद पटेल, जलसिंह कसाना, रामकिशन चौधरी, रमेश बावनपाडा, किशनलाल, हरिसिंह गिरधरपुरा, हरसहाय चौधरी, मलखान सिकंदरा, कर्णसिंह भंडारी, जयसिंह गुर्जर सहित अन्य अनशन पर बैठे।
 घाटा बालाजी में भी अनशन शुरू
(दौसा जिला). आरक्षण आंदोलन के समर्थन में लालसोट के घाटा बालाजी मंदिर पर भी रविवार से गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के तत्वावधान में क्रमिक अनशन शुरू हुआ। तहसील अध्यक्ष सुवालाल कसाना, रामजीलाल डोई ने रामहेत सिंह गुर्जर, राजूलाल गुर्जर, सुरज्ञान गुर्जर, रामजीलाल, बनवारीलाल, मोतीलाल, प्रभूलाल, हरज्ञान, रूपसिंह लावड़ा, जगदीश प्रसाद, मोहनलाल को माला पहनाई व तिलक लगाया। इसके बाद ये अनशन पर बैठ गए।
टोंक में भी चल रहा है अनशन
(टोंक जिला). टोंक में बनास पुल के समीप स्थित भूणाजी के मंदिर में चल रहे गुर्जर समाज के अनशन में चौथे दिन रविवार को गुर्जर उत्थान सेवा समिति के अध्यक्ष मोहनलाल गुर्जर के नेतृत्व में समिति उपाध्यक्ष रामावतार गुर्जर, राजेंद्र गुर्जर, हरिराम मुंशी, देवकिशन गुर्जर, प्रहलाद गुर्जर, बनवारीलाल, केदार गुर्जर, कान्हाराम, गिर्राज गुर्जर आदि बैठे।
कंजोली में भी हुई बैठक
(करौली जिला). गुर्जर समाज को आरक्षण हर हाल में चाहिए। यदि सरकार ने समझौते के मुताबिक कार्य नहीं किया तो वे आंदोलन के लिए तैयार रहें। यह बात रविवार को नदी ढाह के 28 गांवों के प्रमुख पंच-पटेलों की कंजोली में हुई बैठक में वक्ताओं ने कही। बैठक की अध्यक्षता पूर्व सरपंच रामकुंवार ने की। इस दौरान गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के अतरूप सिंह ताजपुर, ऊदल सिंह पेंचला, हरगुन, रामकुमार, रामखिलाडी, भरतसिंह, भीमराज, भीमसिंह, नारायण सिंह, उदयसिंह, कृष्णा गुर्जर, कैप्टन हरस्वरूप, कैप्टन सिरमोहर, सूबेदार अमरसिंह, वीरबल पटेल, निरंजन एडवोकेट, विजय सिंह एडवोकेट, ब्रह्मïसिंह दोई, कैलाश सहित कई लोगों ने विचार व्यक्त किए।

No comments:

Post a Comment

सबसे ज्यादा देखी गईं