Friday, March 26, 2010

जयपुर के लिए आज कूच करेंगे गुर्जर

प्रशासन चाक चौबंद, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम,
बैसला बोले, वार्ता को तैयार , मुद्दा नहीं छोड़ूंगा
(प्रदेश के विभन्न हिस्सों से).  आरक्षण की मांग को लेकर गुर्जर समाज के लोग राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से जयपुर के लिए शुक्रवार को कूच करेंगे। जयपुर में पहुंचने का समय और स्थान को अभी घोषित नहीं किया गया है। आंदोलन कर रहे गुर्जर नेताओं का दावा है कि वे अपना मार्च और पड़ाव शांतिपूर्वक करेंगे। गुर्जर नेता कर्नल किरोड़ी सिंह बैंसला ने महवा में कहा है कि वे सरकार के साथ वार्ता को तैयार हैं, लेकिन आरक्षण का मुद्दा नहीं छोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के मुख्य सचिव ने फोन पर आरक्षण का हल निकालने के लिए वार्ता की पेशकश की है। इसके लिए गुर्जर समाज के साथ रेबारी, बंजारा, गाडिय़ा लुहार के नेताओं से भी मंत्रणा की जा रही है।
उधर, गुर्जरों के अन्य कई संगठनों ने समाज के लोगों से आंदोलन में शामिल नहीं होने की अपील की है। इन संगठन के लोगों ने शांतिपूर्वक बातचीत से हल निकालने पर जोर दिया है। इस बीच राज्य सरकार ने गुर्जरों के मार्च को देखते हुए कानून व्यवस्था के लिए इंतजाम पुख्ता किए हैं।
गुर्जरों के नेता और कर्नल बैंसला के सहयोगी कैप्टन हरप्रसाद ने बताया कि वे और उनके साथी दौसा के महवा से शुक्रवार को जयपुर के लिए पैदल मार्च करेंगे।  मार्च मांगें माने जाने तक जारी रहेगा।  दौसा के अन्य क्षेत्रों से भी गुर्जर जयपुर के लिए कूच करेंगे। साथ ही टोंक, करौली, कोटपूतली, कोटा और बूंदी से अलग अलग समूहों में रवाना होंगे और जयपुर पहुंचेंगे। उन्होंने कहा कि उनका मार्च और महापड़ाव शांतिपूर्वक होगा। एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि न तो उनके लोग रास्ता रोकेंगे और न ही रेल। उनका आम जनता को परेशान करने का कोई कार्यक्रम नहीं है। गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के अजमेर संभाग के अध्यक्ष ओमप्रकाश भडाणा ने बताया कि सुबह 10 बजे घूघरा लाडपुरा चौराहे पर खेतों मे महापंचायत होगी। इसमें गुर्जर, रायका, रैबारी, बंजारा और गाडिय़ा लुहार समाज के लोग शामिल होंगे। पुष्कर में पर्यटक और स्थानीय लोग प्रभावित नहीं हो इसलिए स्थान को बदल दिया गया है। महापंचायत में शामिल होने वालों को भोजन साथ लेकर आने के लिए कहा गया है। पथिक सेना संगठन ने आंदोलन को समर्थन की घोषणा की है।
पुख्ता सुरक्षा 
पुलिस महानिदेशक एचसी मीना ने गुरुवार को गुर्जरों के आंदोलन को देखते हुए अधिकारियों की बैठक ली और निर्देश दिए। सिविल लाइंस, विधानसभा, सचिवालय सहित महत्वपूर्ण जगहों और शहर में प्रवेश के नाकों पर अतिक्ति बल तैनात किया जा रहा है। आईजी रेंज प्रथम बीएल सोनी ने बताया कि एहतियात के तौर पर जिले में पुलिस, बीएसएफ, बोर्डर होमगार्ड और आरएसी के जवानों की तैनाती की जा रही है और बैरिकेड्स लगाए गए हैं।

No comments:

Post a Comment

सबसे ज्यादा देखी गईं