Monday, February 15, 2010

"गुर्जरों को फिर से ओबीसी में लेना शहीदों का अपमान"

राजस्थान गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के जिला संयोजक हिम्मतसिंह गुर्जर बरसे सरकार पर, 20 फरवरी को दौसा में विशेष पिछड़े वर्ग में शामिल सवर्ण जातियों के प्रमुख नेताओं की होगी बैठक
(दौसा जिला). राजस्थान गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के जिला संयोजक हिम्मतसिंह गुर्जर ने कहा कि विशेष पिछड़ा वर्ग को फिर से पिछड़ा वर्ग में शामिल करने का सरकार का निर्णय आरक्षण आंदोलन में शहीद हुए गर्जरों का अपमान है। उन्होंने चेतावनी दी कि विशेष पिछड़े वर्ग की उपेक्षा कर नई भर्तियां चालू की, तो सरकार को गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। हिम्मतसिंह ने बताया कि इस मुद्दे को लेकर 20 फरवरी को दौसा में विशेष पिछड़े वर्ग में शामिल सवर्ण जातियों के प्रमुख नेताओं की बैठक होगी, जिसमें कर्नल किरोड़ी सिंह बैसला सहित गुर्जर समाज के विभिन्न पार्टियों व सामाजिक कार्यकर्ता तथा रायका, रेबारी, बंजारा, गाडिय़ा लुहार सहित विशेष पिछड़े वर्ग में शामिल सभी जातियों के प्रतिनिधि भाग लेंगे।
गुर्जरों से धोखा कर रही है कांग्रेस: पुखराज गुर्जर
(जिला सवाईमाधोपुर-गंगापुरसिटी). 'आरक्षण विधेयक को अटका कर कांग्रेस गुर्जर समाज के साथ धोखा कर रही है। यह आरोप लगाते हुए गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति जिला उपाध्यक्ष पुखराजसिंह गुर्जर ने रविवार को जारी विज्ञप्ति में बताया कि हाल ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कर्नल बैंसला सहित गुर्जर समाज के नेताओं को बुलवाकर विधेयक को एक माह में पारित करने का आश्वासन दिया लेकिन उसके बाद भी विधेयक को पारित नही किया गया। इससे गुर्जर समाज में रोष है।

No comments:

Post a Comment

सबसे ज्यादा देखी गईं