Breaking News

स्वतंत्रता सेनानी छीतर सिंह गुर्जर का निधन

राजकीय सम्मान के साथ अन्त्येष्टि, ग्रामीणों ने भरी आँखों से दी विदाई, पुलिस के जवानों ने २१ चक्र गोलियां चलाकर दी सलामी
जयपुर (करौली). आजाद हिंद फौज में सिपाही रहे स्वतंत्रता सेनानी छीतर सिंह गुर्जर (95) का रविवार रात निधन हो गया। सोमवार सुबह पीपलपुरा में राजकीय सम्मान से उनकी अन्त्येष्टि की गई. बड़े पुत्र महेंद्र सिंह गुर्जर ने उन्हें मुखाग्नि दी. उनके परिवार में पत्नी, दो पुत्र व पांच पुत्रियाँ हैं.
सोमवार सुबह साढे आठ बजे कलेक्टर नीरज के पवन और एसपी सरवर ने गुर्जर के शव को तिरंगे में लपेटा. इसके बाद गाँव में डोला निकाला गया. शवयात्रा के उनके खेत पर पहुँचने पर पुष्प चक्र अर्पित किये गए. इसके बाद पुलिस के जवानों ने २१ चक्र गोलियां चलाकर स्वतंत्रता सेनानी को सलामी दी।
आजादी की लडाई का सफ़र: १९४१ में थाईलैंड में आजाद हिंद फौज में भरती हुए और १९४५ तक देश की आजादी के लिए लडाई लड़ी. द्वितीय विश्व युद्ध के समय उन्होंने सिंगापूर और रंगून जाकर लडाई लड़ी.

No comments

सबसे ज्यादा देखी गईं